fathers day best shayari in hindi, मेरे प्यारे पापा


मेरी पहचान आपसे है पापा,
क्या कहूं आप मेरे लिए क्या हो पापा,
रहने को तो है पैरों के नीचे जमीन,
पर मेरे लिए तो मेरा आसमां आप हो पापा।


है ईश्वर, है खुदा वो,
नहीं हम से जुदा वो,
रहते साथ वो हमारे हरदम,
और कोई नहीं हैं मेरे पिता वो।


खुशियों से भरा हर पल होता है,
जिंदगी में सुनहरा हर कल होता है,
मिलती है कामयाबी उनको,
जिनके ऊपर पिता का छत होता है।


सारा जहां है वो,
जिनकी उंगली पकड़ कर चलना सिखा मैं,
मेरे सबसे प्यारे पापा हैं वो,
जिनको देखकर जीना सिखा मैं।


अगर मैं रास्ता भटक जाऊं,
मुझे फिर राह दिखाना,
आपकी जरूरत मुझे हर कदम पर होगी,
नहीं है दूजा कोई पापा आपसे,
बेहतर चाहने वाला।


हंसते हैं पापा हंसात हैं मेरे पापा,
मेरे लिए खुशियां लाते हैं मेरे पापा,
जब मैं रूठ जाती हूं,
तो मुझे मानते हैं मेरे पापा,
जान हूं मैं पापा की,
और मेरे सबसे प्यारे दोस्त हैं मेरे पापा।


I Love You PaPa ❤️


कभी हंसी और खुशी का मेला है पिता,
कभी कितना अकेला और तनहा है पिता,
मां तो कह देती है अपने दिल की बात,
सबकुछ समेट के आसन सा फैला है पिता।


फूल कभी दोबारा नहीं खिलते,
जन्म कभी दोबारा नहीं मिलती,
मिलते हैं तो लोग हजारों दुनियां में,
लेकिन पापा जितने प्यारे नहीं मिलते।


प्यारे पापा के प्यार भरे सीने से जो लग जाते है,
सच कहता हु विश्वास करो जीवन में सदा सुख पाते है,
धरती सा धीरज दिया और आसमान सी ऊंचाई है,
जिंदिगी को तरस के खुदा ने ये तस्वीर बनाई है,
हर दुख वो बच्चों का वो खुद पे सह लेते हैं,
उस खुदा की जीवित मूर्ति को हम पिता कहते हैं।


पिता के बिना जिंदगी वीरान होती है,
तनहा सफर में हर राह सुनसान होती है,
जिदंगी में पिता का होना जरूरी है,
क्योंकि पिता के साथ हर राह आसान होती है।


वही जमीन मेरा वही आसमान है,
वो खुदा मेरा वही भगवान है,
क्यों मैं जाऊं उसे छोड़के,
क्योंकि मेरे पापा के कदमों में मेरा सारा जहान है।


मेरा सहर मेरा सम्मान है पिता,
मेरी ताकत मेरी पहचान है पिता,
शायद भेजा भगवान ने फल ये अच्छे कर्मों का,
उसकी रहमत उसकी वरदान है पिता।


बिना बताए वो हर बात जान जाते हैं,
मेरे पापा मेरी हर बात मान जाते हैं,
नसीब वाले होते हैं वो जिसके सर पर,
पिता का हाथ होता है,
परेसानिया कम हो जाती है सब,
जब घर में पिता का वास होता है।

I Love My PaPa ❤️


मुझे मोहोब्बत है अपने हाथों के सब लकीरों से,
ना जाने पापा ने मेरे कोन सी उंगली को,
पकड़ कर चलना सिखाया था,


नहीं समझ पा रहा हूं कैसे करूं तारीफ आपकी,
वो शब्द ही नहीं है मेरे पास जो अहमियत बता सके आपकी।


जो हमे खुस रखने के  लिए अपने सारे दुख छिपाते हैं,
खुद भुखे रह कर पहले हमें खिलाते हैं,
मत करना अपना कभी उस इंसान का,
क्योंकि धरती पर भगवान का साया,
माता पिता कहलाते हैं।


दुनियां की भीर में सबसे करीब जो है,
मेरे पापा मेरे खुदा और मेरी तकदीर वो हैं,
पिता हार कर बाजी हमेशा मुस्कुराए,
सतरंज की उस पारी को मैं अब समझ पाया।


मुझे रख दिया छाव में खुद जलते रहे धूप में,
मैने देखा है एक ऐसा फरिश्ता मेरे पापा के रूप में।


बेटियों के संग संसार में सबसे ज्यादा प्यार करने वाला,
उसकी छोटी सी मुस्कुराहट के लिए,
पूरी दुनिया से लड़ने वाला।


जाती है जब बेटियां पराए घर,
तब आंखों में नमी और अंदर से संतुष्ट होकर,
अपना हर कर्तव्य निभाता है,
वो देवता इस संसार में पिता के नाम से जाना जाता है।
I Love You PaPa ❤️

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: