School love story in Hindi

An emotional real School love story in Hindi,प्यार का एहसास

Hello friends मेरा नाम आनंद कुमार है। यह Emotional real heart touching School love story (in Hindi) आपके दिल में प्यार का एहसास  जगा देगा। यह एक अत्यंत ही हृदयस्पर्शी आनंददायक प्यार के सागर में डुबो देनेवाली कहानी है 

An emotional real heart touching School love story in Hindi

इस Real School love story में एक लड़का है, जिसका नाम लव है, और वह 12th क्लास में पढ़ता है। वह जिस स्कूल में पढ़ता है, उसी स्कूल में एक प्यारी सी लड़की भी पढ़ती है, जिसका नाम श्रेया है। श्रेया की मम्मी बचपन में ही गुजर गई थी, श्रेया के पापा ही बचपन से श्रेया का खयाल रखते थे। कभी भी मां की कमी महसूस नहीं होने दी श्रेया को। अब आगे, 

लव और श्रेया 6 साल से साथ में पढ़ते थे। दोनों पढ़ने में बहुत तेज थे। साथ ही साथ दोनों का घर भी एक दूसरे के घर के आमने सामने था। दोनों की दोस्ती 3 साल पहले हुई थी, यह दोनों बहुत ही अच्छे दोस्त बन गए थे। यह दोनों किसी से बात नहीं करते थे। बस आपस में यह दोनों बात किया करते थे, और जैसे-जैसे यह दोनों बड़े हुए, इन दोनों को एक दूसरे से प्यार हो गया। अब एक को तकलीफ होती थी, तो दूसरा हमेशा उसके साथ खड़े रहता था। इस school love story में एक नया मोड़ आया।

कभी एक दूसरे को नहीं बताया 

लेकिन यहां बात यह है। कि इस Real School love story में इन दोनों ने कभी एक दूसरे को यह नहीं बताया। कि ये दोनो एक दूसरे से प्यार करते हैं। लव कुछ दिनों के लिए अपने नानी के घर गया हुआ था। और एक दिन श्रेया के पापा का ट्रांसफर हो गया किसी बाहर सहर में। श्रेया को उनके पापा के साथ जाना पड़ा यहां से, और लव को यह पता नहीं था। कि श्रेया के पापा का ट्रांसफर हो गया है, और श्रेया यहां से जाने वाली है।

जब लव आया श्रेया के घर श्रेया को ढूंढने, तो उसने देखा उसके घर में ताला लगा हुआ है। फिर उसने बगल के एक आदमी से पूछा, कि इस घर में श्रेया और उसके पापा रहते थे। वो लोग कहां चले गए, तो उस आदमी ने कहा तुम्हें नहीं पता है, श्रेया के पापा का ट्रांसफर हो गया है दूसरे शहर में, तो अब वह यहां नहीं रहते।

A real heart touching School love story in Hindi
A real heart touching School love story in Hindi, प्यार का एहसास

तुम चले गए लेकिन यादें छोड़ गए। जो करनी थी तुमसे वह अधूरी बातें छोड़ गए। कहनी थी तुमसे कुछ बातें दिल की, बिना वो बात सुने अकेला छोड़ गए। लेकिन मैं तुमसे फिर जरूर मिलूंगा, जो बात अधूरी थी वो बात जरूर कहूंगा।

फिर एक दिन श्रेया का पता चला 

और 1 दिन पता चला श्रेया किस शहर में रहती है। तो वह उससे मिलने उस शहर में जाने का सोचा, और 1 दिन उसके शहर चले गया। लेकिन इतने बड़े शहर में वो उसको कहां ढूंढे, उसका कोई पता भी मालूम नहीं था, और ना कुछ। लेकिन फिर भी वह उसको ढूंढने उसके शहर में चला गया था। और उसके शहर में उसको ढूंढ रहा था, लेकिन वो कही नहीं मिल रही थी।

लेकिन वो कहते हैं ना, सच्चे प्यार करने वाले को भगवान भी मिला देते हैं। तो लव ने सोचा मैं यही कोचिंग ज्वाइन कर लेता हूं। और मैं यहीं पढ़ लूंगा, अगर भगवान ने चाहा तो मुझे श्रेया जरूर मिलेगी। फिर अगले दिन उसने कोचिंग ज्वाइन की। और जैसे वह क्लास के अंदर गया उसने श्रेया को देखा, और वह बहुत ज्यादा खुश हो गया।

जब दोनों ने एक दूसरे को देखा

और श्रेया भी लव को देखकर बहुत ज्यादा खुश हो गई। उसके बाद जब श्रेया और लव क्लास से बाहर आए। तो लव ने कहा तुम मुझे बिना बताए यहां क्यों चली गई थी। तुम्हे पता है, मैं कितना परेशान हो गया था। ना तुमने अपना एड्रेस बताया था, न कुछ भी, मैं पूरे 7 दिनों से तुम्हें यहां ढूंढ रहा हूं। लेकिन तुम मिल ही नहीं रही थी, लेकिन देखो भगवान ने हमें फिर से मिला ही दिया।

श्रेया ने कहा तुम मुझे क्यों ढूंढ रहे थे, और तुम तो अपने नानी के घर चले गए थे। तो इसलिए मैं तुम्हें बता नहीं पाई। श्रेया ने कहा क्या अब तुम अभी यहां से चले जाओगे। तो लव ने कहा नहीं अब मैं ही रहूंगा तुम्हारे साथ, और मुझे तुमसे कुछ बात कहनी थी। जो मैं वहां नहीं कह पाया था, और वह बात हमारा अधूरा रह गया था।

लेकिन अब मैं वह बात को पूरा करने के लिए आया हूं। लेकिन उससे पहले मुझे बहुत भूख लगी है, हम दोनों पहले कुछ खा लें। चलो तुम मेरे साथ किसी रेस्टोरेंट में पहले हम लोग कुछ खा लेते हैं। उसके बाद वहां पर बैठकर बातें करेंगे, श्रेया ने कहा ठीक है। चलो यहां पर पास में एक बहुत ही अच्छा रेस्टोरेंट है। जहां मैं रोज  करती हूं, और वो जगह मुझे बहुत पसंद भी है।

उसके बाद श्रेया ने कहा

उसके बाद श्रेया ने कहा अब बोलो तुम क्या कहना चाह रहे थे। तो लव ने कहा मैं तुम्हें कैसे कहूं मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा है। मैं जो कहने वाला हूं उसके बाद क्या रिएक्ट करोगी वह मुझे नहीं पता। लेकिन अब अगर मैं तुमसे वह बात नहीं कहूंगा तो, बहुत देर हो जाएगी। और मेरा बात फिर एक बार अधूरा रह जाएगा। मैं नहीं चाहता हूं कि इस बार मेरा बात अधूरा रहे। 

श्रेया ने कहा बोलो तो क्या बात है, उसके बाद मुझे भी कुछ बात कहनी है। जो मैं तुमसे जरूर कहूंगी। फिर लव ने कहा ठीक है। पहले तुम बोलो, तुम क्या कहना चाह रही हो। लेकिन श्रेया ने कहा नहीं तुम पहले बोलो। उसके बाद में बताऊंगी जल्दी बोलो ना मुझे सुनना है।

मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं

तो फिर लव ने कहा मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं। I Love you so much, और यह आज से नहीं बहुत दिनों से। लेकिन मैं तुम्हें कभी यह बात कह नहीं पाया। पर अब अगर मैं नहीं कहता तो बहुत देर हो जाती। इसलिए मैं तुमसे अब कह रहा हूं। अगर तुम्हें कोई दिक्कत है, तो तुम मना कर सकती हो। मैं तुम्हें कुछ नहीं कहूंगा, क्योंकि यह तुम्हारी लाइफ है। तुम्हें अपने लाइफ में किसको रखना है, किसको नहीं रखना यह तुम्हें सोचना है। और मैं जो महसूस करता हूं, वह मैंने तुम्हें बता दिया, अब तुम अपना फैसला मुझे बता दो। 

उसके बाद श्रेया ने कहा, मैं भी तुमसे यही बात कहना चाह रही थी। कि मैं भी तुमसे प्यार करती हूं। लेकिन मेरे यहां आ जाने के बाद मुझे लगने लगा था कि, हम दोबारा फिर कभी नहीं मिल पाएंगे। लेकिन भगवान ने हमें मिला दिया, मैं भी तुमसे बहुत प्यार करती हूं। श्रेया ने कहा कि मैं तुमसे प्यार करती हूं, बहुत करती हूं। लेकिन मैं अपने पापा के खिलाफ कभी नहीं जाऊंगी, बचपन से मेरी मां नहीं है। लेकिन मेरे पापा ने कभी भी मुझे मेरी मां की कमी।

महसूस नहीं होने दी, वही मेरे पापा और मेरी मम्मी हैं, और वही मेरी दुनिया है। तो अगर मेरे पापा मान गए तो ही मैं तुमसे प्यार कर पाऊंगी। वरना मैं तुमसे प्यार कभी नहीं कर सकती। क्योंकि मैं अपने पापा के खिलाफ कभी नहीं जाऊंगी, पापा के खिलाफ जाने से अच्छा मैं मरना पसंद करूंगी। 

इस कहानी का सबसे अच्छा मोमेंट, 

श्रेया के पापा श्रेया के पीछे वाली सीट पर बैठे हुए थे। और श्रेया के पापा ने उनकी सारी बातें सुन ली। और उसने श्रेया को कहा, तुम्हारी जैसी बेटी सबकी होनी चाहिए। तुम्हारी खुशी में मेरी खुशी है, और खुशी से रोते हुए कहा अगर तुम्हारे लिए यह लड़का सही है, तो तुम इसे प्यार कर सकती हो। क्योंकि मुझे पता है, मेरी बेटी कभी भी किसी गलत लड़के को नहीं चुन सकती। और लव को तो मैं बचपन से जानता हूं, और तुम दोनों बहुत अच्छे दोस्त भी हो। तुम दोनों अपनी पढ़ाई पूरी कर लो अच्छी सी जॉब ले, लो उसके बाद मैं तुम दोनों की शादी कराऊंगा।  

और फिर श्रेया खुशी से रोते रोते हुए बोली। पापा आप दुनिया के सबसे अच्छे पापा हो। मैं बहुत खुश नसीब हूं कि मैं आपकी बेटी हूं। आपने कभी भी मुझे मम्मा की कमी नहीं होने दी। Love you my world’s Best Papa, और अब वह दोनों अपनी पढ़ाई अच्छे से करने लगे। और 5 साल बाद दोनों ने एक अच्छी सी नौकरी ले ली। उसके बाद श्रेया के पापा लव के पापा से दोनों की शादी के लिए बात करने के लिए गए। और लव के पापा भी मान गए। क्योंकि वह दोनों भी इतने दिनों से एक ही मोहल्ले में रहते रहते अच्छे दोस्त बन गए थे।

प्यार वो नहीं जो दुनिया को दिखाया जाए। प्यार तो वो है, जो दिल से निभाया जाए। और वो रिश्ता कभी नहीं टूटता जहां पर दो लोग GF, BF होने के साथ-साथ, दोनों best friends भी हो।

Heart touching real school love story

किसी का हाथ तभी थमना चाहिए, जब आप उसके साथ जिंदगी भर रह सको। क्योंकि आप भले यह सोचो कि कुछ दिन उसके साथ रहकर, टाइम पास करके मैं उसे छोड़ दूंगा। लेकिन सामने वाले को आप से दिल से प्यार हो जाता है। और वह चाहते हैं कि आप उससे कभी दूर ना हो। और आपके दूर हो जाने के बाद वह बिल्कुल टूट जाते हैं। उनके जीने की वजह खत्म हो जाती है, तो कभी किसी को झूठा प्यार मत करो। 

इस Heart touching real school love story में लव ने श्रेया से प्यार किया। और उसके साथ जिंदगी भर रहने का वादा किया, और अपना वादा पूरा भी किया। तो यह होता है सच्चा प्यार। यह अत्यंत ही हृदयस्पर्शी आनंददायक प्यार के सागर में डुबो देनेवाली कहानी आपको कैसी लगी यह हमे कमेंट करके जरूर बताएं। अगर अच्छी लगे तो शेयर जरूर करें।

Read another love story

A heart touching love story क्यों खोई रहती हो

2 thoughts on “An emotional real School love story in Hindi,प्यार का एहसास”

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: