Independence Day 2021: status, quotes and meaning, वतन से अच्छा कोई सनम नहीं होता

image source

What happens about independence Day

हर साल, भारत के प्रधान मंत्री दिल्ली के लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं, और राष्ट्र को संबोधित करते हैं, जिसके बाद एक सैन्य परेड होती है, जिसमे बहुत अलग अलग तरह के परेड निकलता जाता है, सभी राज्यों का अलग अलग होता है, उसके Culture के हिसाब से, जो की बहुत ही अच्छा लगता है, भारत के राष्ट्रपति ‘राष्ट्र को संबोधन’ भाषण भी देते हैं। इस अवसर के सम्मान में, इक्कीस तोपों की गोलियां भी चलाई जाती हैं।

 इस दिन को पूरे भारत में राष्ट्रीय अवकाश के रूप में मनाया जाता है, जिसमें कार्यालय, बैंक और डाकघर बंद रहते हैं। स्वतंत्रता दिवस सभी भारतीय राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में ध्वजारोहण समारोह, परेड और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ मनाया जाता है।

स्वतंत्रता दिवस की तैयारियां एक महीने पहले से ही शुरू हो जाती हैं। स्कूल और कॉलेज सांस्कृतिक कार्यक्रमों, प्रतियोगिताओं, वाद-विवाद, भाषणों और प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओं का आयोजन करते हैं। 

* Important Facts 

1. भारतीय ध्वज का निर्माण और आपूर्ति हमारे देश में केवल एक ही स्थान में होती है। कर्नाटक का धारवाड़ में स्थित कर्नाटक खादी ग्रामोद्योग संयुक्त संघ (KKGSS) के पास ही हैै, भारतीय राष्ट्रीय ध्वज के निर्माण और उसकी आपूर्ति का अधिकार है। भारतीय मानक ब्यूरो (बीआईएस) के अनुसार, झंडे का निर्माण केवल हाथ से काते और हाथ से बुने हुए कपास खादी वेफिंग के साथ किया जाता ही किया जाता है। 

2. 1911 में नोबेल पुरस्कार विजेता रवींद्रनाथ टैगोर जी द्वारा रचित एक गीत ‘भारतो भाग्य बिधाता’ का नाम बदल दिया गया था और उसका नाम बदल कर ‘जन गण मन’ कर दिया गया और फिर, 24 जनवरी 1950 को भारत की संविधान सभा द्वारा इसे राष्ट्रगान के रूप में अपनाया गया। 

3. भारत की आजादी के बाद भी गोवा पुर्तगाली एक उपनिवेश था। फिर इसे 1961 में ही भारतीय सेना द्वारा भारत में मिला लिया गया था। इसलिए हम कह सकते हैं, गोवा भारतीय क्षेत्र में शामिल होने वाला एक अंतिम राज्य था।

 

Image source

Background of independence Day

स्वतंत्रता के लिए भारत का संघर्ष 1857 में मेरठ में सिपाही विद्रोह के साथ शुरू हुआ और प्रथम विश्व युद्ध के बाद इसे गति मिली। २०वीं शताब्दी में, महात्मा गांधी के नेतृत्व में, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (INC) और अन्य राजनीतिक संगठनों ने एक देशव्यापी स्वतंत्रता आंदोलन शुरू किया और दमनकारी ब्रिटिश शासन के खिलाफ विद्रोह किया।

 

 1942 में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान, भारतीय कांग्रेस ने ब्रिटिश शासन को समाप्त करने की मांग करते हुए भारत छोड़ो आंदोलन शुरू किया, जिसने औपनिवेशिक शासकों को गांधी सहित कई प्रचारकों, राष्ट्रवादियों और मंत्रियों को हिरासत में लेने के लिए प्रेरित किया।

 

 1947 में भारत के विभाजन के दौरान, धार्मिक हिंसा के बीच हिंसक दंगे, बड़े पैमाने पर हताहत और लगभग 15 मिलियन लोगों का विस्थापन हुआ।

5 other country celebrate independence Day on 15 August

15 अगस्त को भारत के साथ पांच अन्य देश अपनी स्वतंत्रता का जश्न मनाते हैं। वे बहरीन, उत्तर कोरिया, दक्षिण कोरिया और लिकटेंस्टीन हैं, ये दिन सिर्फ हमारे लिए ही नहीं बल्कि कुछ और देशों के लिए खुशी का दिन है।

Click here 👇👇

New Quotes of independence Day 

 

Why india is Our mother 

बचपन से सुनता आया हूं, मेरा भारत महान, मेरा भारत महान, मेरा भारत महान, और आज मैं खुद कहता हूं, कि सच में मेरा भारत महान है, पता है क्यों? क्योंकि यह सिर्फ देश नहीं है हमारी माता है, हमारी भारत माता है, कभी आपने सोचा है, कि अमेरिका जैसे इतने ताकतवर देश के पीछे माता क्यों नहीं लगता, रूस जैसे इतने बड़े देश के पीछे माता क्यों नहीं लगता, जापान के पीछे माता क्यों नहीं लगता, सिर्फ हमारे भारत के पीछे ही माता क्यों लगता है, हम क्यों कहते हैं कि भारत माता की जय,

क्योंकि आज तक जितने भी अवतार हुए हैं, वह भारत माता की गोद में ही हुए हैं, श्री रामचंद्र जी ने जन्म लिया जो की भगवान थे, तो वह भी हमारे भारत में जन्म लिए और रावण का वध किया और अपनी धरती को बचाया,

श्री कृष्ण भगवान ने अवतार लिया, तो वह भी भारत माता की मिट्टी में ही अवतार लिए और कंश जैसे बुरे राक्षस का अंत किया और देश को बुराइयों से मुक्त किया,

चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, और इनके तरह न जाने कितने ही हमारी भारत देश की धरती पर जन्म लिए, और इसी धरती में अपने प्राण त्याग दिए, इसलिए कहता हूं सच में मेरा भारत महान, और इसलिए कहते हैं भारत माता की जय, क्योंकि यहां ऐसे ऐसे महापुरूषों ने जन्म लिया, जो हमारे लिए मर मिटने को तैयार थे, और आगे भी ऐसे महापुरुष जन्म लेते रहेंगे, और सारी दुनिया में हमारे देश का नाम बहुत आगे लेकर जाएंगे,

और मुझे गर्व है कि मेरा जन्म इस भारत देश में हुआ है,

News: of 75th independence Day 2021

15 अगस्त की सुबह, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी नई दिल्ली में लाल किले की प्राचीर से तिरंगा फहराएंगे और राष्ट्र को संबोधित करेंगे। पदभार ग्रहण करने के बाद यह उनका आठवां स्वतंत्रता दिवस संबोधन होगा। भाषण सुबह 7.30 बजे शुरू होने की संभावना है।

 समारोह में पीएम मोदी इस साल के ओलंपिक दल की मेजबानी करेंगे, जिन्होंने 2020 टोक्यो ओलंपिक में देश को रिकॉर्ड पदक दिलाया।

 चल रहे कोविड -19 महामारी के कारण, इस वर्ष के समारोह में कुछ लोग शामिल होंगे और सख्त सुरक्षा प्रोटोकॉल और सामाजिक दूरी के उपायों का पालन करेंगे।

 अपने 2020 के स्वतंत्रता दिवस भाषण में, पीएम मोदी ने कोविड -19 से लड़ने वाले अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं की सराहना की थी। उन्होंने कहा था कि भारत महामारी के कारण एक अनोखे दौर से गुजर रहा है, लेकिन लोगों के संकल्प की बदौलत वह विजयी होगा। उन्होंने आत्मनिर्भर भारत के महत्व पर भी प्रकाश डाला था।

Leave a Comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: